रविवार, 5 अक्तूबर 2014

BANG BANG!


 

कल रात बैंग बैंग देखा, नाइट ऐंड डे की कापी है, थोड़ा सा मसला बार्न अल्टीमेटम से भी लिया गया है। रितिक रोशन टाम क्रूज को को कापी करने में काफी हद तक सफल रहे हैं....कैटरीना कैमरून डियाज के पास भी नहीं फटक पाईं....। फर्स्ट हाफ ज्यादा प्रभावकारी है, सेकेण्ड हाफ रबर बैण्ड है। रितिक रोशन को डाल्फिन कम, शार्क की तरह समंदर में डाइव करते देखना पैसा वसूल है। कोहीनूर के आसपास लिखी गई कहानी में कोई नूर नही हैं। एक्शन लोकेशन, फोटोग्राफी ठीक ठाक हैं। कैटरीना का कैरियर ज्यादा लंबा खिंचने में संदेह के बादल मंडरा रहे हैं।


दिल से निकलगी, ना मरकर भी, वतन की उल्फत मेरी मिट्टी से भी खुशबू-ए-वतन आयेगी....।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नारी का नारकीय जीवन: कारण

सभ्यता के आदिकाल से ही नारी को दोयम दर्जे का नागरिक मााना जाता रहा है। नाना प्रकार के विकास के बावजूद आज इक्कीसवीं सदी के पूर्वार्द्ध में भी...